वाहनों के टायरों से निकलने वाले धुआं बनते जा रहे है जानलेवा

विश्व में लगातार बढ़ रहे जनसंख्या और उसके ऊपर लगातार बढ़ रहे वाहनों से वायु प्रदूषण होते जा रहा है पहले वायु प्रदूषण कारखानों से निकलने वाले धुआं उसके बाद मोटरसाइकिल चार पहिया वाहनों के साइलेंसर से निकलने वाला धुआं हवाई जहाज से निकलने वाला धुआं खाना पकाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले हैं लकड़ियों से निकलने वाले धुआं यह सब वायुमंडल में प्रदूषण के सबसे मुख्य कारणों में से एक थे जिसके कारण पर्यावरण का संतुलन लगातार बिगड़ते जा रहा था और अभी भी बिगड़ रहा है

और यह धुआं स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होते जा रहा है लेकिन इसके अतिरिक्त एक और धुआं भी है जो गाड़ियों से निकलता है जिससे बहुत कम लोग ही जानते हैं और वह है गाड़ी के टायरों से निकलने वाला धुआं गाड़ी के टायरों से निकलने वाला धुआं स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक होता है और इससे कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है यह धुआं गाड़ी के टायर और जमीन के बीच घर्षण से पैदा होता है यह धुआं बहुत ही हानिकारक धुआं में से एक होता है यह धुआं गाड़ी की स्पीड के ऊपर निर्भर करता है जितना ज्यादा गाड़ी स्पीड में चलता है उतना ज्यादा गाड़ी का टायर और जमीन के बीच घर्षण होता है

जिससे गाड़ी के टायर से एक विशेष प्रकार की जहरीली गैस निकलती है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक होता है और विश्व में अरबो कार मोटरसाइकिल चलते रहते हैं जिससे बहुत ज्यादा मात्रा में यह हानिकारक धुआं निकलते रहता है जिससे बहुत ही कम लोग जानते हैं और यह धुआं हमारे स्वास्थ्य पर धीरे-धीरे हानिकारक प्रभाव डालता रहता है और इसके असर से लोग अनजान रहते हैं और इस दोनों को धीरे धीरे अपने श्वसन तंत्र से शरीर में डालते रहते हैं जिससे शरीर पर बहुत ही गंदा प्रभाव पड़ता है इस प्रकार से गाड़ी के टायरों से निकलने वाले धुआं से भी वायुमंडल प्रदूषित होता है और यह धुआं मनुष्य के शरीर के लिए जानलेवा होता है

Add Comment