बांस की कोमल टहनी है कई बीमारियों की दवा

जिस तरह से जंगल में विभिन्न प्रकार के पौधों को विभिन्न प्रकार के औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है ठीक उसी प्रकार जंगल में बांस के पौधों का भी औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है जी हां बांस के पौधे का विभिन्न बीमारियों में औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है जो कि बहुत ही महत्वपूर्ण बांस के कोमल टहनी का इस्तेमाल औषधि के रूप में ज्यादा होता है इस बांस के कोमल टहनी को जंगल क्षेत्रों के रहने वाले निवासी इसका इस्तेमाल ज्यादा औषधि के रूप में करते हैं

बांस के कोमल टहनी का सेवन करने से ऐसे व्यक्ति जिनके शरीर में पर्याप्त प्रोटीन नहीं होता है यह पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन देता है अर्थात बांस के पहने कोमल टहनी का सेवन करने से प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में मिलता है यह खून के रोगों से जुड़े हुए व्यक्तियों के लिए भी लाभकारी होता है ऐसे व्यक्ति जिन्हें ब्लड प्रेशर पैरालिसिस जैसी बीमारियां होती है उनके लिए बांस की कोमल टहनी का सेवन करने से यह बीमारी कंट्रोल में हो जाती है ठीक इसी तरह शुगर से जुड़े मरीजों के लिए भी यह लाभकारी होता है

ऐसे मरीज जिनको शुगर की बीमारी होती है उन्हें बांस की कोमल टहनी का सेवन करना चाहिए बांस के कोमल टहनी का सेवन करने से शुगर का लेवल बराबर रहता है और शरीर में इंसुलिन की कमी को दूर करता है ठीक इसी तरह बांस के कोमल टहनी का सेवन करने से पेट में कब्ज गैस जैसी बीमारियां भी दूर होती है और बांस की यह कोमल टहनी पेट से जुड़े इन सभी बीमारियों को दूर करता है और पाचन तंत्र को मजबूत करता है यह शरीर के खून को साफ करने का भी काम करता है इस प्रकार से बांस की कोमल टहनी रक्तशोधक का भी काम करती है उसके कोमल टहनी का सेवन सब्जी के रूप में किया जाता है इसे किसी भी सब्जी में डालकर खाया जा सकता है इस प्रकार से बांस की टहनी कार्य में बहुत ही ज्यादा महत्व है

Add Comment